रामधारी सिंह "दिनकर"

रामधारी सिंह "दिनकर" का जन्म बिहार के बेगुसराय जिले के सिमरिया गाँव में भूमिहार ब्राहमण परिवार में हुआ था।
एक विधयार्थी के रूप में उनका पसंदीदा विषय इतिहास, राजनीति शास्त्र एवंम दर्शन शास्त्र था। उन्होंने हिंदी, संस्कृत, मैथिलि, बंगाली, उर्दू एवंम अंग्रेजी साहित्य का अध्ययन किया। दिनकर रबिन्द्रनाथ टैगोरे, मिल्टन, इकबाल, कात्स आदि विद्वानों से बहुत प्रेरित थे। उन्होंने रबिन्द्रनाथ टैगोरे के रचनाओं को बंगाली से हिंदी में अनुवाद किया।